UP Budget 2019 in Hindi | UP Budget 2019 – 20 के कुछ महत्वपूर्ण बिंदु |

उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री श्री योगी आदित्यनाथ की सरकार ने अपने कार्यकाल का दूसरा बजट 2019 – 20  कल 07 फरवरी 2019 को उत्तर प्रदेश की विधानसभा में पेश किया . उत्तर प्रदेश बजट 2019 – 20 उत्तर प्रदेश के राज्य वित् मंत्री राजेश अग्रवाल द्वारा  प्रस्तुत किया किया गया . यह बजट उत्तर प्रदेश का अभी तक का सबसे बड़ा वित्तीय बजट है . पिछले बजट की तुलना में इस बार का बजट लगभग 11.4 प्रतिशत अधिक है . वर्तमान वर्ष 2019 – 20 का कूल बजट 4.79 लाख करोड़ का है जिसमे 21212 करोड़ रूपये की लागत की नई योजनाओ को भी  शामिल किया गया है .

UP Budget 2019 - 20 In Hindi

आइए जानते है UP Budget 2019 – 20 / (UP Budget 2019 – 20 In Hindi) के कुछ महत्वपूर्ण बिंदु – 

सडको एवं एक्सप्रेस वे के लिए कूल बजट राशी – 

पूर्वांचल एक्सप्रेस-वे – के लिए 1194 करोड़ की राशी का प्रावधान किया गया है ,
बुंदेलखंड एक्सप्रेस-वे – इस एक्सप्रेस वे वर्तमान बजट में कूल   1000 करोड़ और इसके साथ बनने वाले डिफेंस कॉरिडोर के लिए 500 करोड़ की राशी आवंटित की गयी है  .
गोरखपुर लिंक एक्सप्रेस-वे : गोरखपुर लिंक एक्सप्रेस वे  के लिए 1000 करोड़ रुपए के लिए दिए गए है .
रैपिड ट्रांजिट प्रोजेक्ट :   दिल्ली-गाजियाबाद-मेरठ कॉरिडोर के लिए 400 करोड़ रुपए का आवंटन भी इस बजट में  किया गया है।

एयरपोर्ट एवं मेट्रो के लिए कितनी  राशी का आवंटन किया गया है ?  –

  •  अयोध्या में एयरपोर्ट बनाने के लिए 200 करोड़ रुपए की व्यवस्था प्रस्ताव रखा गया है। 
  • उत्तर प्रदेश  राज्य में रीजनल कनेक्टिविटी स्कीम (उड़ान) के लिए 150 करोड़, जेवर एयरपोर्ट के लिए भूमि अधिग्रहण करने के लिए  800 करोड़ रुपए की धनरासी की  व्यवस्था की गयी है।
  • इस बजट में कानपुर-आगरा मेट्रो के लिए 175-175 करोड़ रुपए आवंटित किए गए और  वाराणसी, मेरठ, गोरखपुर, प्रयागराज और झांसी में मेट्रो प्रोजेक्ट के शुरुआती कार्यों हेतु 150 करोड़ रुपए की धनरासी की भी व्यवस्था की गई है।
  • प्रदेश में हवाई पट्टियों के निर्माण, विस्तार तथा सुदृढ़ीकरण के लिए एक हजार करोड़ रुपया का बजट प्रस्तावित.

शिक्षा व्यवस्था एवं सुधार के लिए कूल बजट का आवंटन / शिक्षा के लिए कूल कितनी राशी इस बजट में दी गयी है  ? –

  • राजकीय मेडिकल कालेज कानपुर, गोरखपुर, आगरा और इलाहाबाद में बर्न यूनिट की स्थापना के लिये 14 करोड़ रुपये की व्यवस्था भी इस बजट में  की गई है.
  • डॉ. राममनोहर लोहिया संस्थान के विभिन्न कार्य के लिए 396 करोड़ रूपये  की व्यवस्था इस बजट में की गयी है .
चिकित्सा एवं स्वास्थ्य के लिए कूल बजट –

  • आयुष्मान भारत-नेशनल हेल्थ प्रोटेक्शन मिशन योजना के लिए 1,298 करोड़.
  • प्रधानमंत्री मातृ वंदना योजना के लिए 291 करोड़.
  • आयुष्मान भारत-नेशनल हेल्थ प्रा  टेक्शन मिशन योजना की सुविधा से वंचित पात्र लाभार्थियों को राज्य सरकार के अपने संसाधनों से मुख्यमंत्री जन आरोग्य अभियान से आच्छादित करने के लिए 111 करोड़ रुपये की व्यवस्था की गयी है .
  • प्रदेश के जनपदों में 100 शैयायुक्त चिकित्सालयों की स्थापना के लिए 47 करोड़ 50 लाख की व्यवस्था
  • ग्रामीण आयुर्विज्ञान संस्थान, सैफई के लिए 357 करोड़ रुपया की व्यवस्था प्रस्तावित की गयी है .
  • कैंसर सस्थान, लखनऊ के विस्तार एवं विकास के  लिए 248 करोड़ की व्यवस्था.
  • माननीय अटल बिहारी वाजपेयी चिकित्सा विश्वविद्यालय, लखनऊ की स्थापना के लिए 50 करोड़  की व्यवस्था की गयी है .
  •  प्रदेश में एक आयुष विश्वविद्यालय की स्थापना के लिए 10 करोड़ की धनरासी  की व्यवस्था भी इस बजट में की गयी है .
  • प्रदेश के चिन्हित जिलों में चिकित्सालयों को मेडिकल कॉलजों में उच्चीकृत करने की योजना के लिए 908 करोड़  का बजट  प्रस्तावित है .
  •  किंग जॉर्ज मेडिकल यूनिवर्सिटी, लखनऊ के विभिन्न कार्य के लिए 907 करोड़ रूपये  की बजट व्यवस्था की गयी है .
  • जनपद बलरामपुर में किंग जॉर्ज मेडिकल यूनिवर्सिटी, लखनऊ के सेटेलाइट सेण्टर की स्थापना के लिए 25 करोड़ रुपया की व्यवस्था प्रस्तावित इस बजट में की गयी है .
  • संजय गांधी पीजीआइ, लखनऊ में विभिन्न कार्य के लिए 854 करोड़ रुपये की  व्यवस्था की गयी है .

उद्योग एम् रोजगार के लिए कूल कितनी राशी इस बजट में दी गयी है  ?

  • मुख्यमंत्री ग्रामोद्योग रोजगार योजना के लिए 5 करोड़ रूपये दिए गये है .
  • रोजगार प्रोत्साहन योजना के लिए 482 करोड़ रुपए और युवा स्वरोजगार योजना के लिए 100 करोड़ आवंटित किए गए.
  • पावरलूम बुनकरों को रियायती दर पर बिजली मुहैया कराने के लिए 150 करोड़ का बजट.
  • यूपी हैंडलूम, पावरलूम, सिल्क, टेक्स्टाइल्स ऐंड गारमेंट पॉलिसी के तहत 50 करोड़.
  • विशेष क्षेत्र कार्यक्रम के तहत पूर्वांचल की विशेष योजनाओं के लिए 300 करोड़.
  • उत्तर प्रदेश राज्य में मिट्टी का कार्य करने वाले शिल्पियों के परंपरागत व्यवसाय को नवाचार के माध्यम से संरक्षित एवं सवंद्धित करने के लिए उत्तर प्रदेश माटी कला बोर्ड का गठन किया गया है. इसके लिए  माटी कला समन्वित विकास कार्यक्रम संचालन करने हेतु  दस करोड़ रुपये  की व्यवस्था की गयी है .
अन्य प्रमुख कार्यो के लिए कूल राशी का प्रावधान –

  • नि:शुल्क बोरिंग योजना के लिए 55 करोड़ रुपये दिए गए ..
  • मध्यम गहरे नलकूप योजना के अंतर्गत 70 करोड़ का प्रावधान ..
  • प्रदेश के पठारी क्षेत्र में सिंचाई के लिए सामुदायिक ब्लास्ट कूप के निर्माण तथा जीर्णोद्धार के लिए 20 करोड़ रुपया देने की व्यवस्था की गयी है .
  • ग्रामीण क्षेत्र के युवाओं को खेल एवं रचनात्मक कार्य के प्रति प्रोत्साहित करने के लिए युवक मंगल दल योजना के लिए 25 करोड़ रूपये की व्यवस्था की गयी है .
  • इस बजट में स्वच्छ भारत मिशन-ग्रामीण के लिए 6,000 करोड़ रुपये दिए गये है .
  • मुख्यमंत्री आवास योजना-ग्रामीण के लिए 429 करोड़ रुपया की व्यवस्था की गयी है .
  • प्रदेश की ग्राम पंचायतों में 750 पंचायत भवन के निर्माण के लिए 14 करोड़ रूपये की रासी का प्रावधान किया गया है .
  • राष्ट्रीय ग्रामीण आजीविका मिशन के लिए 1,393 करोड़ रुपये  की व्यवस्था की गयी है .
  • राष्ट्रीय ग्रामीण पेयजल कार्यक्रम के लिए 2,954 करोड़ रुपये  की व्यवस्था की गयी है .