Ad Code

Ticker

6/recent/ticker-posts

गयासुद्दीन बलवन कौन था | गयासुद्दीन बलबन का उत्तराधिकारी कौन था

गयासुद्दीन बलवन कौन था | गयासुद्दीन  बलबन का उत्तराधिकारी कौन था  : नमस्कार दोस्तों हमारे ब्लॉग पर आपका स्वागत है आज के इस पोस्ट के माध्यम से हम आपको "गयासुद्दीन बलवन कौन था | गयासुद्दीन  बलबन का उत्तराधिकारी कौन  " के बारे में बतायेंगें. तो आइये जानते है गयासुद्दीन  बलबन के बारे में कुछ महत्वपूर्ण जानकारी.

 गयासुद्दीन बलवन कौन था :

गयासुद्दीन बलबन इसका वास्तविक नाम बहाउदीबहाउद्दीन था. वह दिल्ली सल्तनत में ग़ुलाम वंश का एक शासक था.  उसने सन् 1265 से 1286 तक राज्य किया. बलवन न्याय प्रिय शासक था.
वह जाति से इलबारी तुर्क था.  उसका पिता उच्च श्रेणी का सरदार था. बाल्यकाल में ही मंगोलों ने उसे पकड़कर बगदाद के बाजार में दास के रूप में बेच दिया था.

गयासुद्दीन बलवन कौन था | गयासुद्दीन  बलबन का उत्तराधिकारी कौन था
बलवन का मकबरा
Image Credit : Wikipedia

गयासुद्दीन बलवन के बारे में कुछ महत्वपूर्ण जानकारियाँ :
  • गयासुद्दीन बलवन इल्तुतमिश के चालीसा दल का सदस्य था .
  • 1266 ई० में गयासुद्दीन बलवन के नाम से दिल्ली की गद्दी पर बैठा .
  • बलवन ने अपनी पुत्री का विवाह नसरुद्दीन महमूद शाह के साथ किया था .
  • बलवन का वास्तविक नाम बहाउद्दीन था.
  • नसरुद्दीन महमूद ने बलवन को उलुंग खां की उपाधि दी थी .
  • महरोली में कुतुबमीनार के निकट ही बलवन का मकबरा है . इसका  भारतीय वास्तुकला के विकास में महत्वपूर्ण स्थान है क्यूंकि पहली बार इसमें ही एक सही मेहराब का इस्तेमाल हुआ था .
  • प्रशिद्ध कवि अमीर खुसरो बलवन का समकालीन था . अमीर खुसरो को तोता - ए- हिन्द के उपनाम से भी जाना जाता है . 

बलवन दुवारा किये गए प्रमुख कार्य / गयासुद्दीन तुगलक के कार्यों का मूल्यांकन :

  • बलवन से सत्ता संभालकर इतुतामिश दुवारा बनाये गए चालीसा दल को ख़त्म कर दिया .
  • बलवन ने मंगोलों के आक्रमण से बचने के लिए सैन्य विभाग ( दीवाने - ए - अर्ज ) का गठन किया .
  • दोआब एवं बंगाल के क्षेत्र में डाकुओ से निपटने के लिए रक्त एवं लोह की नीति अपनाई .
  • दो नयी प्रथाए सिजदा (लेटकर नमस्कार करना) एवं पैबोस (सुल्तान के पैर चूमना) चलाई .
  • नैरोज पर्व का प्रारम्भ हुआ .
  • गुप्तचर विभाग की स्थापना हुई .गुप्तचर को बरीद कहा जाता था.
गयासुद्दीन बलवन से जुड़े महत्वपूर्ण प्रश्न जो परीक्षाओ में पूछे जाते है :

Q ) बलबन का उत्तराधिकारी कौन था ?
उत्तर : अपनी मृत्यु से पहले बलबन ने अपने पोत्र  कैखुशरव को अपना उत्तराधिकारी नियुक्त किया था जो शहजादा मुहम्मद शाह का पुत्र था.

Q ) बलबन का दामाद कौन था ?
उत्तर : शेख हमीदुद्दीन नागोरी.

Q ) लोहा एवं रक्त की नीति को लागू करने वाला शासक कौन था ?
उत्तर: गयासुद्दीन बलवन.

Q ) बलबन की लौह और रक्त की नीति का वर्णन कीजिए ?
उत्तर : बलवन मुसलमान विद्वानों का आदर करता था लेकिन राजकीय कार्यों में उनको हस्तक्षेप नहीं करने देता था. बलवन का न्याय पक्षपात रहित और उसका दंड अत्यंत कठोर था, इसी कारण उसकी शासन नीति को लोह रक्त की नीति के नाम से जाना जाता है.

Q ) बलवन की मृत्यु कैसे हुई थी ?
उत्तर : बलवन ने  1279 और 1285 ई० के हमलों में मंगोलों को हराया था, हालांकि, गयासुद्दीन बलबन ने युद्ध में अपने बेटे मोहम्मद की म्रत्यु हो गई. अपने बेटे की मृत्यु से गयासुद्दीन बहुत ज्यादा टूट चुके थे और इस वजह से गयासुद्दीन बलबन की 1287 में मृत्यु हो गई.

Q ) बलबन का जन्म तुर्की के किस संप्रदाय में हुआ था ?
उत्तर : बलवन का जन्म तुर्की के इलबरी सम्प्रदाय में हुआ था .

आशा करते है इस पोस्ट में दी गई जानकारी " गयासुद्दीन बलवन कौन था | गयासुद्दीन  बलबन का उत्तराधिकारी कौन था  " आपको पसंद आई होगी.

Reactions

Post a Comment

0 Comments

Ad Code