Ticker

6/recent/ticker-posts

Advertisement

भारत का संविधान की बैठक , गठन , निमार्ण एवं समितियां | भारतीय संविधान का इतिहास या भारत का संवेधानिक विकास

 संविधान सभा का गठन कब हुआ ?  , भारतीय संविधान का निर्माण कब किया गया ,  संविधान का निर्माण कैसे हुआ ? , भारतीय संविधान का इतिहास क्या है ? , भारत का संविधान किसने लिखा  ? , भारत का संविधान कब लागू हुआ ? इस प्रकार के अनेको प्रश्न अक्सर करके पूछे जाते है .. अगर आप भी इन प्रश्नों के उत्तर नही जानते तो कोई बात नही क्यूंकि इस पोस्ट को पढ़कर आपको इन सभी प्रश्नों के जवाब मिल जायेंगे.

भारत का संविधान की बैठक , गठन , निमार्ण  एवं समितियां | भारतीय संविधान का  इतिहास या भारत का संवेधानिक विकास








भारत का संविधान की बैठक , गठन , निमार्ण एवं समितियां

Q : संविधान सभा का गठन कब किया गया था ?

उत्तर : संविधान सभा का गठन 1946 में किया गया था .

Q : संविधान सभा की प्रथम बैठक कब कई गई थी ?

उत्तर : संविधान सभा कि प्रथम बैठक 9 दिसंबर 1946 ई० में कई गई थी.

Q : संविधान सभा की द्वित्य बैठक कब की गई थी ?

उत्तर :  संविधान सभा कि द्वित्य बैठक 11 दिसंबर 1946 ई० में कई गई थी.

Q : संविधान सभा के प्रथम अस्थाई अध्यक्ष कौन थे ?

उत्तर : डॉ सचिदानंद सिन्हा .

Q : प्रारूप समिति के अध्यक्ष थे ?

उत्तर : डॉक्टर भीमराव अंबेडकर.

Q : संघ संविधान समिति के अध्यक्ष थे ?

उत्तर : जवाहरलाल नेहरू.

Q : प्रांतीय संविधान समिति के अध्यक्ष थे ?

उत्तर : सरदार वल्लभभाई पटेल.

Q : कार्य संचालन समिति के अध्यक्ष थे ?

उत्तर : डॉ राजेंद्र प्रसाद.

Q : मूल अधिकार एवं अल्पसंख्यक समिति के अध्यक्ष थे ?

उत्तर : सरदार वल्लभभाई पटेल.

Q : झंडा समिति के अध्यक्ष थे ?

उत्तर : जे बी कृपलानी.

Q : संविधान तैयार होने में कुल कितना समय लगा था ?

उत्तर : 2 साल 11 महीने 18 दिन.

Q : संविधान तैयार व अंगीकृत किया गया था ?

उत्तर : 26 November 1949.

Q : संविधान पूर्ण रूप से लागू किया गया था ?

उत्तर : 26 जनवरी 1950.

Q : स्वाधीनता दिवस मनाना कब से प्रारंभ हुआ था ?

उत्तर : 26 जनवरी 1930.

Q : प्रथम गणतंत्र दिवस मनाया गया था ?

उत्तर : 26 जनवरी 1950.

Q : संविधान सभा की अंतिम बैठक कब की गई थी ?

उत्तर : 24 जनवरी 1950.

Q : डॉ राजेंद्र प्रसाद को संविधान सभा द्वारा प्रथम राष्ट्रपति कब चुना गया था ?

उत्तर : संविधान सभा की अंतिम बैठक 24 जनवरी 1950 को डॉ राजेंद्र प्रसाद को प्रथम राष्ट्रपति चुना गया था.

Q : मूल संविधान में कुल कितने अनुच्छेद भाग व अनुसूचियां थी ?

उत्तर : मूल संविधान में 395 अनुच्छेद , 22 भाग एवं 8 अनुसूचियां थी

भारतीय संविधान का  इतिहास या भारत का संवेधानिक विकास |  भारतीय संविधान का इतिहास क्या है :

भारत का संवैधानिक विकास ब्रिटिश सरकार द्वारा लाये गए अधिनियमों पर आधारित है -जिसके अंतर्गत 1773 का रेगुलातिंग एक्ट , 1784 का पिट्स इंडिया एक्ट , 1786 का संसोधन अधिनियम , 1793 का चार्टर अधिनियम ,1853 का चार्टर एक्ट , 1858 का भारत सरकार अधिनियम , 1861 का अधिनियम ,  1892 का अधिनियम , 1909 का अधिनियम मार्ले मिंटो सुधार , 1919 का अधिनियम मांटेग्यू चेम्सफोर्ड सुधार ,1935 का अधिनियम , 1947 का भारत स्वतंत्रता अधिनियम .

1773 का रेग्युलेटिंग एक्ट :

  • 1773 का रेगुलेटिंग एक्ट द्वारा कंपनी पर संसदीय नियंत्रण की व्यवस्था की गई.
  • गवर्नर के पद की जगह गवर्नर जनरल का पद बनाया गया.
  • बंगाल का प्रथम गवर्नर जनरल वारेन हेस्टिंग को बनाया गया.
  • बंगाल में सर्वोच्च न्यायालय की स्थापना की गई.
  • 1774 ई० में कोलकाता में सुप्रीम कोर्ट की स्थापना की गई.
  • सुप्रीम कोर्ट के प्रथम प्रथम मुख्य न्यायाधीश एलिजा इम्पे थे.
  • कंपनी को चलाने के लिए दो संस्थाओं का गठन किया गया जिसमें कोर्ट ऑफ प्रोपराइटर्स ( निवेशक समूह ) कोर्ट को डायरेक्टर्स ( 24 सदस्य ) का प्रावधान किया गया.

1784 पिट्स इंडिया एक्ट :

  • 1784 के पिट्स इंडिया एक्ट द्वारा कंपनी पर संसदीय नियंत्रण और बढ़ा दिया गया.
  • बोर्ड ऑफ कंट्रोल की स्थापना की गई जिसके अंतर्गत 6 सदस्य थे.
  • गवर्नर जनरल के अधिकारों में वृद्धि की गई जिसके मंत्रिपरिषद में 4 की जगह 3 सदस्य कर दिए गए.
  • अब गवर्नर जनरल को किसी भी कानून को लागू करने के लिए मंत्री परिषद से सिर्फ एक मत की आवश्यकता थी.

1786 का संशोधन अधिनियम


  • 1786 का संशोधन अधिनियम कार्नवालिस के संबंध में लाया गया गवर्नर जनरल को मुख्य सेनापति घोषित कर दिया गया.
  • गवर्नर जनरल को मंत्रिपरिषद के निर्णय को रद्द करने का अधिकार दे दिया गया.
  • गवर्नर जनरल को प्रशासनिक और सेना का मुखिया बना दिया गया.

1793 का चार्टर एक्ट

  • कंपनी का शासन अधिकार 20 वर्षों के लिए बढ़ा दिया गया.
  • बंगाल के गवर्नर जनरल को मुंबई मद्रास के पर्यवेक्षक का अधिकार प्रदान किया गया.

1813 का चार्टर एक्ट

  • 1813 के चार्टर एक्ट अधिनियम द्वारा कंपनी का अधिकार 20 वर्ष के लिए पुन: बढ़ा दिया गया.
  • शिक्षा के क्षेत्र में कंपनी द्वारा एक लाख का उपाय करने का प्रावधान किया गया.
  • इस प्रावधान के अंतर्गत ईसाई मिशनरियों को भारत आने की छूट दी गई.

1833 का चार्टर एक्ट

  • कंपनी का अधिकार 20 वर्ष पुणे बढ़ा दिया गया.
  • चीन और चाय का व्यापारिक एक अधिकार पूर्ण रूप से समाप्त कर दिया गया.
  • जाति और वर्ग के आधार पर सरकारी नौकरियों में भेदभाव को समाप्त कर दिया गया.
  • मंत्री परिषद में एक विधि सदस्य बनाया गया.
  • प्रथम विधि सदस्य मैकाले थे.
  • बंगाल के गवर्नर को भारत का गवर्नर कहा जाने लगा.
  • \भारत के प्रथम गवर्नर लॉर्ड विलियम बेंटिक थे.
  • 1833 का चार्टर एक्ट के तहत 1843 में एलन ब्रो द्वारा दासता प्रथा को समाप्त कर दिया गया.

1853 का चार्टर एक्ट

  • इस अधिनियम द्वारा कोर्ट ऑफ डायरेक्टर जिसमें सदस्यों की संख्या पहले 24 थी को घटाकर 18 कर दी गई.

  • अधिकारी बनने के लिए प्रतियोगिता परीक्षा का प्रारंभ किया गया.
  • इस अधिनियम द्वारा विधि सदस्यों को पूरा दर्जा दिया गया.
1858 का भारत सरकार अधिनियम

  • इस अधिनियम द्वारा भारत में कंपनी का शासन समाप्त करके सीधे ब्रिटिश क्राउन को शासन दिया गया.
  • भारत का सचिव पद नमक नया पद बनाया गया जिसके अंतर्गत  बोर्ड और डायरेक्टर एवं कंट्रोल की जगह केवल 1 सदस्य का प्रावधान किया गया.
  • भारत सचिव की सदस्यता के लिए 15 सदस्य भारतीय परिषद गठित की गई.
  • सचिव के ऑफिस का व्यय (खर्च) भारत से होम चार्जेस के रूप में प्राप्त किया गया.
  • भारत का वायसराय नामक नया पद  गवर्नर के स्थान पर बनाया गया.
  • भारत का प्रथम वायसराय लॉर्ड कैनिंग को बनाया गया.

1861 का अधिनियम 

  • इस अधिनियम के द्वारा पुन: एक विधि सदस्य की नियुक्ति की गई.
  • इस अधिनियम के द्वारा विधानसभा की स्थापना की गई.
  • वायसराय को अपने कार्यकारी परिषद में 6 से 12 सदस्यों की नियुक्ति का अधिकार दिया गया.
  • वायसराय को कुछ विकट स्थितियों में अध्यादेश लाने का अधिकार प्रदान किया गया.

1892 का अधिनियम

  • निर्वाचन पद्धति का अधिकार.
  • केंद्रीय विधान परिषद में भारतीय सदस्यों को वार्षिक बजट पर बहस एवं प्रश्न पूछने का अधिकार प्रदान किया गया.

1909 का अधिनियम मार्ले मिन्टो सुधार  

  • विधान मंडलों की आकार शक्ति में वृद्धि की गई.
  • भारतीयों  को सार्वजनिक विषय पर प्रश्न पूछने का अधिकार दिया गया.
  • पृथक निर्वाचन के आधार पर मुस्लिमों को आरक्षण दिया गया.
1919  का अधिनियम मांटेग्यू चेम्सफोर्ड सुधार 
  • केंद्र में द्विसदनीय व्यवस्था अपनाई गई उच्च सदन काउंसिल ऑफ स्टेट 60 सदस्यवर्तमान में राज्यसभा के रूप में जाना जाता है , केन्द्रीय विधान सभा काउंसिल ऑफ असेंबली 144 सदस्य वर्तमान में से लोकसभा के रूप में जाना जाता है.
  • प्रांतों में द्वैध शासन की व्यवस्था की गई.
  • प्रत्यक्ष चुनाव का दौर शुरू हुआ.

1935 का अधिनियम

  • अखिल भारतीय संघ का निर्माण.
  • केंद्र स्तर पर द्वैध शासन.
  • प्रांतों में द्वैध शासन समाप्त प्रांतों को स्वायत्तता.
  • संघीय न्यायालय एवं संघीय बैंकों की स्थापना.
  • जवाहरलाल नेहरू ने 1935 के अधिनियम को अनेक ब्रेक वाली इंजन रहित गाड़ी कहा.

1947 भारत स्वतंत्रता अधिनियम

  • भारत को दो भागों में बांटा तक बांटा गया भारत एवं पाकिस्तान
  • 15 अगस्त 1947 को भारत स्वतंत्र हुआ.
इस प्रकार ब्रिटिश सरकार द्वरा लाये गए इन अधिनियमों ने भारतीय संविधान के विकास में अहम् भूमिका निभाई.




Post a Comment

0 Comments