Ticker

6/recent/ticker-posts

Advertisement

मुहम्मद गौरी कौन था | मुहम्मद गौरी किस वंश का था

मुहम्मद गौरी कौन था | मुहम्मद गौरी किस वंश का था  : नमस्कार दोस्तों हमारे ब्लॉग पर आपका स्वागत है आज के इस पोस्ट के माध्यम से हम आपको "मुहम्मद गौरी कौन था | मुहम्मद गौरी किस वंश का था  " के बारे में बतायेंगें. तो आइये जानते  है मुहम्मद गौरी  के बारे में कुछ महत्वपूर्ण जानकारी :

मुहम्मद गौरी कौन था | मुहम्मद गौरी किस वंश का था


मुहम्मद गौरी कौन था | Muhammad Gauri Koun Tha :

मुहम्मद गौरी का पूरा नाम शहाब-उद-दीन मुहम्मद ग़ोरी था , जो की 12वी   शताब्दी का अफ़ग़ान सेनापति था. मुहम्मद गौरी बहुत ही महत्वकांशी एवं साहसी व्यक्ति था .
  • 1173 ई o में महुम्मद गौरी गौर का शासक बना .
  • गौर महमूद गजनी के अधीन एक छोटा सा राज्य था.
  • इसने भारत पर पहला आक्रमण 1175 ई o में मुल्तान पर किया.
  • दूसरा आक्रमण पाटन (गुजरात) पर हुआ, जिसमे वह भीम 2 गुजरात के शासक से बुरी तरह हारा .

 गौरी दुवारा लडे गए प्रमुख युद्ध :

मुहम्मद गौरी द्वारा लडे गए तीन प्रमुख युद्ध इस प्रकार है -
  • तराइन का प्रथम युद्ध 1191 ई o में महमूद गौरी एवं पृथ्वीराज चौहान  के मध्य हुआ जिसमे पृथ्वीराज चौहान विजयी हुआ.
  • तराइन का द्वितयी युद्ध 1192 ई o में महमूद गौरी एवं पृथ्वीराज चौहान  के मध्य हुआ जिसमे पृथ्वीराज चौहान की हार हुई .
  • चंदावर का युद्ध 1194 ई o में गौरि एवम् जयचन्द के बीच हुआ जिसमे गौरि की जीत हुई .

मुहमद गौरी द्वारा किये गए प्रमुख कार्य :

मुहम्मद गौरी द्वारा किये गए प्रमुख कार्य इस प्रकार है :
  • मुहम्मद गौरी ने लक्ष्मी की आक्रति के सिक्के चलाये और सिक्को के दूसरी और मुहम्मद बिन शाम लिखवाया .
  • मुहम्मद गौरि अपने जीते हुए प्रदेशो की कमान अपने सेनापतियों को सोंपकर गजनी वापस चला गया .
  • मुहमद गोरी के सेनापति थे कुतुब्दीन ऐबक , बख्त्यार ख़िलजी , यलदोज , नरुद्दीन कुवाचा .
  • मुहम्मद गौरि की हत्या 15 मार्च 1206 ई में कर दी गयी .

मुहम्मद गौरी से जुड़े महत्वपूर्ण प्रश्न जो परीक्षाओ में पूछे जाते है :

Q : मोहम्मद गौरी को किसने मारा था ?
Answer : पृथ्वी राज चौहान ने मुहम्मद गौरी को मारा था.
Q: मोहम्मद गौरी किस वंश का था ?
Answer : मुहम्मद गौरी गौर वंश का था.
Q: पृथ्वीराज चौहान ने मोहम्मद गौरी को कैसे मारा ?
Answer : पृथ्वीराज ने गौरी को कैसे मारा यह घटना काफी दिलचस्प है  - इतिहासकारों के अनुसार मुहम्मद गौरी और पृथ्वी राज चौहान के बीच हुए पहले युद्ध में  गौरी की हार हुई,  पर पृथ्वीराज चौहान उदार हृदय वाले थे और उन्‍होंने युद्ध में हराने के बावजूद गौरी को  छोड़ दिया. 

पर जब  दूसरी बार तराइन का युद्ध हुआ तब गौरी जीत गया और  पृथ्‍वीराज को बंदी बनाकर अपने साथ अफगानिस्‍तान ले गया और वहां उनकी आंखें फोड़ दीं. इसके बाद भी गौरी का गुस्सा शांत नही हुआ और उसने पृथ्वी राज को मारने का निश्चय कर लिया . 

पृथ्‍वीराज चौहान शब्‍दभेदी बाण चलाने के माहिर थे , यानी वह आवाज सुनकर तीर चलाना जानते थे. गौरी ने मृत्युदंड देने से पहले उनके शब्दभेदी बाण का परीक्षण करना चाहा. पृथ्वीराज के साथी कवि चंदबरदाई ने गौरी को ऊंचे स्थान पर बैठकर तवे पर चोट मारकर संकेत करने की सलाह दी. गौरी मान गया और उसने ठीक वैसा ही किया जैसा कि चंदबरदाई ने कहा था. तभी चंदबरदाई ने चतुरतापूर्वक  पृथ्वीराज को एक  संदेश दिया जो की कुछ इस प्रकार था -

चार बांस चौबीस गज, अंगुल अष्ट प्रमाण।
ता ऊपर सुल्तान है, मत चूको चौहान ॥

पृथ्वीराज चौहान चंदबरदाई का संकेत समझ गए और उन्‍होंने तवे पर हुई चोट और चंदबरदाई के संकेत के आधार पर  अपने आप से  गौरी की  दूरी और दिशा का अनुमान लगा लिया फिर उन्‍होंने जो बाण मारा वह सीधे गौरी की छाती में जाकर लगा और इस तरह पृथ्वी राज चौहान ने गौरी को मारा था. इसके बाद चंदबरदाई और पृथ्वीराज ने भी एक दूसरे का वध कर आत्मबलिदान दे दिया. 

Q : मोहम्मद गौरी का जन्म कब हुआ था ?
Answer : मुहम्मद गौरी का जन्म 1149 ई० में हुआ था .

Q :मोहम्मद गौरी की मृत्यु के बाद दिल्ली का शासक कौन बना ?
Answer : कुतुब्ब्दीन ऐबक मोहम्मद गौरी की मृत्यु के बाद दिल्ली का शासक कौन बना.

Q : मोहम्मद गौरी का जन्म कहाँ हुआ था ?
Answer : मुहम्मद गौरी का जन्म गौर अफगानिस्तान में हुआ था,

Q : मोहम्मद गौरी को पराजित करने वाला भारत का पहला शासक कौन था ?
Answer  : भीम सेन मोहम्मद गौरी को पराजित करने वाला भारत का पहला शासक था.

आशा करते है इस पोस्ट में दी गई जानकारी "मुहम्मद गौरी कौन था | मुहम्मद गौरी किस वंश का था  " आपको पसंद आई होगी.

मुहम्मद गौरी कौन था | मुहम्मद गौरी किस वंश का था : Download in Pdf

Read Also :




Post a Comment

3 Comments

  1. sir, nice and knowlegeble article. thank you for the right information.

    ReplyDelete
  2. मुझे आपकी वैबसाइट बहुत पसंद आई। आपने काफी मेहनत की है। मैंने आपकी वैबसाइट को बुकमार्क कर लिया है। हमे उम्मीद है की आप आगे भी ऐसी ही अच्छी जानकारी हमे उपलब्ध कराते रहेंगे। अगर आप दिल्ली जा घूमने जा रहे है तो एक बार हमारी वैबसाइट को जरूर visit करे। इस वैबसाइट “ Delhi Capital India ” के माध्यम से हमने भी लोगो को दिल्ली की जानकारी देने की कोशिश की है। हो सके तो हमारी वैबसाइट को एक बैकलिंक जरूर दे। धन्यवाद ॥

    ReplyDelete