मैन बुकर पुरस्कार | Man Bukar Award in Hindi

मैन बुकर पुरस्कार साहित्य के क्षेत्र में दिया जाता है जो की नोबेल पुरस्कार के बाद साहित्य के क्षेत्र में दिए जाने वाला सबसे बड़ा पुरस्कार है . 2019 का मैन बुकर पुरस्कार ओमान की लेखिका जोखा अल-हार्थी को उनकी किताब ‘सेलेस्टियल बॉडीज’ के लिए  दिया गया है. जोखा साहित्य जगत का यह प्रतिष्ठित पुरस्कार हासिल करने वाली अरब जगत की पहली लेखिका बन गयी है .  पुरस्कार के रूप में मिली 64 हजार डॉलर (करीब 44 लाख रुपये) की इनामी राशि वह अमेरिकी मार्लिन बूथ के साथ साझा करेंगी. मार्लिन ने उनकी किताब का अंग्रेजी में अनुवाद किया था.

मैन बुकर पुरस्कार | Man Bukar Award in Hindi

मैन बुकर पुरस्कार क्या है , इसकी स्थापना कब की गयी थी ?

मैन बुकर पुरस्कार की स्थापना ब्रिटेन की एक संस्था बुकर मैकोनल कम्पनी एंड पुब्लिशर्स एसोसिएशन के द्वारा 1969 ई० में की गयी थी. यह पुरस्कार बुकर कंपनी एवं ब्रिटिश प्रकाशक संघ द्वारा संयुक्त रूप से दिया जाता है .

मैन बुकर पुरस्कार किस क्षेत्र से जुड़े व्यक्तियों को दिया जाता है ?

मैन बुकर पुरस्कार प्रतिवर्ष किसी भी देश के किसी भी लेखक को अंग्रेजी भाषा की उत्कृष्ट रचना हेतु प्रदान किया जाता है .

मैन बुकर पुरस्कार विजेता को कितनी धनरासी प्रदान की जाती है ?

मैन बुकर पुरस्कार विजेता को 60 हजार पाउंड यानी ( 52,53,440 भारतीय रूपये ) के लगभग  की धनरासी प्रदान की जाती है .

मैन बुकर पुरस्कार प्राप्त करने वाले भारतीय मूल लेखक – सूचि

 वर्ष   लेखक   कृति 
 1971  वी. एस. नायपाल  इ फ्री स्टेट
 1981  सलमान रुश्दी  मिडनाइट चिन्द्रेन
 1997  अरुंधती राय  द गॉड ऑफ़ स्माल थिंग
 2006  किरण देशाई  द इन्हेरिटेंस ऑफ़ लोस
 2008  अरविन्द अडिगा  द व्हाइट टाइगर
 

मैन बुकर पुरस्कार से जुडी कुछ महत्वपूर्ण जानकारी –

  • मैन बुकर पुरस्कार को बुकर पुरस्कार भी कहा जाता है.
  • इस पुरस्कार को दिए जाने से पहले उपन्यासों की एक लंबी सूची तैयार की जाती है और फिर पुरस्कार वितरण समारोह वाले दिन की शाम के भोज में पुरस्कार विजेता की घोषणा की जाती है.
  • मैन बुकर पुरस्कार राष्ट्रकुल (कॉमनवैल्थ) या आयरलैंड के नागरिक द्वारा लिखे गए मौलिक अंग्रेजी उपन्यास के लिए हर वर्ष दिया जाता है.
  • पहला मैन बुकर पुरस्कार अलबानिया के उपन्यासकार इस्माइल कादरे को दिया गया था.
  • 2008 वर्ष का मैन बुकर पुरस्कार भारतीय लेखक अरविन्द अडिग को दिया गया था. अडिग को मिलाकर कुल 5 बार यह पुरस्कार भारतीय मूल के लेखकों को मिला है.
  • कुल 9 पुरस्कार विजेता उपन्यास ऐसे हैं जिनका कथानक भारत या भारतीयों से प्रेरित है.
आशा करते है हमारे द्वरा दी गयी ” मैन बुकर पुरस्कार | Man Bukar Award in Hindi | मैन बुकर पुरस्कार क्या है | मैन बुकर पुरस्कार किस क्षेत्र में दिया जाता है – Man Bukar Award In Hindi ” की जानकारी आपको  अच्छी लगी होगी . इस   विषय से जुड़ा कोई भी प्रश्न पूछने के लिए कमेंट करे . और इस पोस्ट को हो सके तो शेयर जरूर करे .
Read Also –