भारतीय रिज़र्व बैंक – सामान्य ज्ञान | RBI GK Question In Hindi –

SSC CORNER पर आपका स्वागत है . आज हम यहाँ पर इस पोस्टके द्वारा   भारतीय रिज़र्व बैंक के समबन्धित कुछ महत्वपूर्ण जानकारियाँ शेयर करने जा रहे . 

भारतीय रिज़र्व बैंक – सामान्य ज्ञान | RBI GK Question In Hindi –

भारतीय रिज़र्व बैंक यानी RBI भारत का केन्द्रीय बैंक है . यह भारत के सभी बैंको को नियंत्रित एवं संचालित करता है . RBI भारत की अर्थवयवस्था को नियंत्रित करने का कार्य करता है .

भारतीय रिज़र्व बैंक की स्थापना कब और कैसे  की गयी थी ?

भारतीय रिज़र्व बैंक की स्थापना 1935 ई० में की गयी थी . RBI की स्थापना इंडिया रोलेक्ट एक्ट 1934 के अनुसार की गयी थी . RBI की स्थापना के पीछे डॉ बाबा साहेब भीमराव आंबेडकर का अहम् योगदान है . बाबा साहेब आंबेडकर के द्वारा प्रस्तुत किये गए दिशा निर्देशों के आधार पर की गयी .
बाबा साहेब ने बैंक की कार्य प्रणाली और काम करने की शैली को हिल्टन यंग कमीशन के सामने रखा .  
हिल्टन यंग कमीशन 1926 में  भारत में रॉयल कमीशन ऑन इंडियन करेंसी एंड फिनांस के नाम से आया था तब इसके सभी सदस्यों ने बाबासाहेब ने लिखे हुए ग्रंथ दी प्राब्लम ऑफ दी रुपी – इट्स ओरीजन एंड इट्स सोल्यूशन (रुपया की समस्या – इसके मूल और इसके समाधान) की जोरदार वकालात की, उसकी पृष्टि की। ब्रिटिशों की वैधानिक सभा (लेसिजलेटिव असेम्बली) ने इसे कानून का स्वरूप देते हुए भारतीय रिजर्व बैंक अधिनियम 1934 का नाम दिया गया.

भारतीय रिज़र्व बैंक मुख्यालय कहाँ स्थित है ?

पहले भारतीय रिज़र्व बैंक का मुख्यालय कोलकाता में था . सन 1937 में इसे कोलकाता से मुंबई लाया गया .
RBI पहले एक निजी बैंक था जो की सन 1949 ई० में रास्ट्रीयकरण किया गया और यह भारत सरकार का उपक्रम बन गया .

भारतीय रिज़र्व बैंक के गवर्नर कौन है ?

वर्तमान वर्ष 2019 में भारतीय रिज़र्व बैंक के गवर्नर शक्तिकांत दास है . इन्होने 4  सितम्बर 2016 को पदभार ग्रहण किया .

भारत में RBI के कूल कितने क्षेत्रीय कार्यालय है ? 

वर्तमान समय में पुरे भारत में रिज़र्व बैंक ऑफ़ इंडिया के कूल 29 क्षेत्रीय कार्यालय है .
भारतीय रिज़र्व बैंक के प्रमुख कार्य क्या है ?

भारतीय रिज़र्व बैंक की प्रस्तावना में बैंक के मूल कार्य का वर्णन किया गया है जो निम्न प्रकार है  :

  • “बैंक नोटों के निर्गम को नियन्त्रित करना, भारत में मौद्रिक स्थायित्व प्राप्त करने की दृष्टि से प्रारक्षित निधि रखना और सामान्यत: देश के हित में मुद्रा व ऋण प्रणाली परिचालित करना”.
  • मौद्रिक नीति तैयार करना, उसका कार्यान्वयन और निगरानी करना.
  • वित्तीय प्रणाली का विनियमन और पर्यवेक्षण करना.
  • विदेशी मुद्रा का प्रबन्धन करना.
  • मुद्रा जारी करना, उसका विनिमय करना और परिचालन योग्य न रहने पर उन्हें नष्ट करना.
  • सरकार का बैंकर और बैंकों का बैंकर के रूप में काम करना.
  • साख नियन्त्रित करना.
  • मुद्रा के लेन देन को नियंत्रित करना.

भारतीय रिज़र्व बैंक से सम्बंधित कुछ महत्वपूर्ण जानकारियाँ –

बैंक रेट (Bank Rate) किसे कहते है : बैंक रेट वह ब्याज दर है जिस पर रिज़र्व बैंक अन्य बैंकों को ऋण देता है .
रेपो रेट (Repo Rate)  किसे कहते है : रेपो रेट वह दर है जिसमे रिज़र्व बैंक , बैंको को अल्पकालिक ऋण देकर अर्थवयवस्था में तरलता लाने का प्रयास करता है .
रिवर्स रेपो रेट (Reverse Repo Rate): वह दर है , जिस पर RBI बैंको से अल्पकालिक ऋण लेकर अर्थवयवस्था से तरलता वापस लेता है .
नकद आरक्षित अनुपात (Cash Reserve Ratio , CRR) : सभी व्यापारिक बैंको को जमा राशी का एक निश्चित प्रतिशत रिज़र्व बैंक के पास निधि के रूप मर रखना पड़ता है . इस अनुपात को नकद आरक्षित अनुपात कहते है .
वैधानिक तरलता अनुपात ( Statutory Liquidity Ration , SLR ) क्या है : व्यापारिक बैंको को अपनी कूल संपत्ति का एक निश्चित तरल रूप में या अनुमोदित प्रतिभूतियों के रूप में अपने पास रखना पड़ता है . इसे वैधानिक तरलता अनुपात कहा जाता है .
आशा करते है हमारे द्वरा दी गयी “भारतीय रिज़र्व बैंक – सामान्य ज्ञान | RBI GK Question In Hindi ” की जानकारी आपको  अच्छी लगी होगी . इस   विषय से जुड़ा कोई भी प्रश्न पूछने के लिए कमेंट करे . और इस पोस्ट को हो सके तो शेयर जरूर करे .
Read Also –