Latest Information

Saturday, July 8, 2017

इल्तुतमिश - short notes

सल्तनत काल 

गुलाम वंश :

स्थापना एवं संस्थापक 
  • गुलाम वंश की स्थापना 1206 ई० में कुतुबद्दीन ऐबक द्वारा की गयी .
                                                                        इल्तुमिश



  • इल्तुतमिश इल्बरी तुर्क था . वह कुतुबद्दीन ऐबक का गुलाम एवं दामाद था .
  • ऐबक की म्रत्यु के समय वह बदायु का गवर्नर था .
  • कुतुबद्दीन ऐबक की म्रत्यु के पश्चात् आरामशाह गद्दी पर बैठा जिसकी इल्तुतमिश ने हत्या कर दी और अपने आप गद्दी पर बैठ गया .
  • इल्तुतमिश ने लाहौर से राजधानी दिल्ली स्थान्तरित की और दिल्ली को अपनी राजधानी बनाया .
  • उसने हौज - ए - सुल्तानी का निर्माण देहली - ए - कुहना के निकट कराया .
  • इल्तुतमिश पहला शासक था जिसे बगदाद के खलीफा दुवारा १२२९ में सुल्तान के पद की संवेधानिक स्वीक्रति प्राप्त हुई.
  • इल्तुतमिश की म्रत्यु 1236 ई० में हुई.
  • इल्तुतमिश अपना उत्तराधिकारी अपनी बेटी रजिया बेगम को बनाना चाहता था किन्तु उसकी म्रत्यु के पश्चात् रुकनुद्दीन फिरोजशाह को गद्दी पर बैठा दिया गया . बाद में उसकी हत्या करवा डी गयी और रजिया बेगम को दिल्ली के अमीरों ने गद्दी पर बैठा दिया. 
 इल्तुमिश द्वारा कराए गए प्रमुख कार्य :
  • इल्तुतमिश ने कुतुबमीनार का निर्माण पूरा कराया .
  • उसने तुरकान - ए - चिहल्गानी नामक दल का गठन किया जिसमे 40 व्यक्ति थे .
  • इकता प्रथा चलाई.
  • चंगेज खां से बचने के लिए उसने ख्वारिज्म के सम्राट को अपने यहाँ शरण नही दी थी .
  • इल्तुतमिश ने दिल्ली के अमीरों का दमन किया.
  • सबसे पहले अरबी के सिक्के चलवाए .

No comments:

Post a Comment